कोई खामोश है इतना बहाने भूल आया हूँ.,., किसी की एक तरन्नुम में तराने भूल आया हूँ., मेरी अब राह मत ताकना कभी ऐ आसमां वालो.,., मै एक चिड़िया की आँखों में उड़ाने भूल आया हूँ.,.!!!   Koi khamosh hai itna bahane bhool aaya hun Kisi ki ek tarannum me tarane bhool aaya hun Meri […]

Spread the love
Read More →

कौन ‘कमबख्त’ कहता है, लड़के सोचते कम हैं . . . . . . . . लड़की एक बार मुस्करा कर तो देखे शेरवानी के रंग से लेकर बच्चों तक के नाम सोच लेते हैं। Spread the love

Spread the love
Read More →